NTMN Hindi

कलमाडी की वजह से सोना सस्ता हुआ…


NTMN presents to you a fortnightly Hindi section, written by Mr Shiv Mishra, starting today. [Editor’s note]

दिल्ली से NTMN संवाददाता द्वारा:

कॉमनवेल्थ गेम्स में आज भारत ने शूटिंग में एक और गोल्ड मेडल जीत लिया. प्राप्त जानकारी के अनुसार शूटिंग के एटीन मीटर्स डबल ट्रैप डबल बैरल ट्वेल्व बोर इवेंट में भारत के आकाश खरबंदा ने यह मेडल जीता. इस इवेंट में कनाडा के भारतीय मूल के शूटर जगन चोपड़ा ने सिल्वर और ऑस्ट्रेलिया के माइकल डार्क ने ब्रोंज मेडल जीता. इसके साथ ही भारत अब तक कुल २३ गोल्ड, २२ सिल्वर और १४ ब्रोंज मेडल जीतकर दूसरे स्थान पर पहुँच गया है. इतनी भारी मात्रा में गोल्ड मेडल जीतने की वजह से पिछले कई महीनों से लोगों की आलोचना झेल रहे कॉमनवेल्थ आर्गेनाइजिंग कमिटी राहत महसूस कर रही है. 

दूसरी तरफ कॉमनवेल्थ गेम्स में भारत को उम्मीद से ज्यादा गोल्ड मेडल मिलने की वजह से भारतीय कमोडिटीज मार्केट में गोल्ड प्राइसेज के क्रैश होने की संभावना बढ़ गई है. आज बिजनेस चैनल ज़ी एन डी सी पर प्रसिद्ध कमोडिटीज एनालिस्ट तेजस्विनी ठकराल ने निवेशकों को गोल्ड फ्यूचर्स शॉर्ट करने की सलाह दी. ठकराल का मानना है कि अगर इसी रफ़्तार से भारत को गोल्ड मेडल मिलते रहे तो आनेवाले तीन-चार दिनों में ही गोल्ड प्राइसेज में करीब चौबीस परसेंट गिरावट की सम्भावना है. 
ठकराल के कमोडिटीज मार्केट के इस ट्रेडिंग काल पर आल इंडिया गोल्ड ट्रेडर्स एसोसियेशन ने यह कहते हुए अपना विरोध दर्ज कराया कि कमोडिटीज मार्केट में गोल्ड फ्यूचर्स शॉर्ट करने का ठकराल का सुझाव देश में सोने की ट्रेडिंग के लिए खतरनाक है. एसोसियेशन के अध्यक्ष अशोक अग्रवाल ने आज एक संवाददाता सम्मलेन में यह कहते हुए ठकराल का विरोध किया कि ठकराल का गोल्ड प्राइसेज के क्रैश होने के बारे में दिया गया बयान निहायत ही बचकाना है. 
श्री अग्रवाल के अनुसार ठकराल ने अपने प्रोजेक्शन के लिए केवल एक्स्ट्रापोलेशन का सहारा लिया है. सूत्रों के अनुसार ठकराल के द्वारा दिया गया प्रोजेक्शन इस बात पर आधारित है कि अगर भारत को पाँच दिन में २३ गोल्ड मेडल मिला है तो कॉमनवेल्थ गेम्स की समाप्ति की तारीख तक भारत को कुल ७३ गोल्ड मेडल मिलेंगे. 
दूसरी तरफ अखिल भारतीय उपभोक्ता कल्याण समिति के अध्यक्ष सुनील खन्ना ने सोने के खरीदारों को बधाई देते हुए कहा कि; “पिछले करीब सात महीने में जिस तरह से सोने का दाम बढ़ा था वह चिंता का विषय था. इसमें मुझे सोने के व्यापारियों द्वारा की गई धांधली की बू आ रही थी. भला हो कॉमनवेल्थ गेम्स का जिसकी वजह से देश में एक बार फिर से सोना सस्ता हो सकेगा.”
सोने के भाव में भावी गिरावट से आम जनता बहुत खुश हुई है. आम जनता ने आज शाम रामलीला मैदान में भारी मात्रा में इकठ्ठा होकर कॉमनवेल्थ आर्गेनाइजिंग कमिटी के अध्यक्ष सुरेश कलमाडी को धन्यवाद दिया. आम जनता के नेता श्री राम नरेश ने श्री कलमाडी को धन्यवाद ज्ञापित करते हुए कहा; “श्री कलमाडी के प्रयासों के चलते ही देश में एक बार फिर से सोना सस्ता हो सकेगा तथा देश की आम जनता फिर से सोना खरीद सकेगी. हम देश की आम जनता के नेता के रूप में श्री कलमाडी को धन्यवाद देते हैं. आशा है इस बार धनतेरस और दिवाली पर देशवासी एक बार फिर से सोना खरीद सकेंगे.”
मुंबई में आज संवाददाताओं से बात करते हुए गोल्डेन संगीतकार के नाम से मशहूर श्री बप्पी लाहिड़ी ने सोने के संभावित दाम गिरने पर चिंता जताते हुए कहा; “हमारा डेडी कहेते थे कि गोल्ड एक एक्सक्लूसिभ मेटोल है. एही वास्ते हाम एतना सोना पहिनता हाय. पार अभी दाम गीरने से ई 
सोना सोभी पहन सकेगे. हामको दुख है कि हमारा एक्सक्लूसिभनेस चला जाएगा.”
बप्पी लाहिड़ी जी के वक्तव्य की राजनैतिक हलकों में काफी चर्चा हुई. राज ठाकरे ने उनके इस वक्तव्य की आलोचना की.
दूसरी तरफ श्री कलमाडी ने श्री राम नरेश को इस धन्यवाद ज्ञापन के लिए थैंक यू कहा. उन्होंने बताया, “मैंने पहले भी कहा था कि इस बार कॉमनवेल्थ गेम्स के बहुत सारे हिडेन फायदे हैं जो एक-एक करके सामने आयेंगे. आज मैं इस बात से खुश हूँ कि मेरी बात सच साबित होने वाली है. जो लोग़ मेरे ऊपर यह आरोप लगा रहे थे कि मैंने देश की जनता का पैसा कॉमनवेल्थ गेम्स में खर्च किया वे आकर देख सकते हैं कि मेरी वजह से ही देशवासियों को आज सस्ता सोना मिलेगा.”
पूरा देश साँसे बांधे उस दिन का इंतज़ार का रहा है जब देश में सोने के भाव धराशायी होंगे.


(शिवकुमार मिश्र का ब्लॉग)


About the author

Shiv Mishra

2 Comments

  • अभी बताता हूं अपनी अम्मा और पत्नीजी को!

  • अभी बताता हूं अपनी अम्मा और पत्नीजी को!

Leave a Reply