Archive - February 2012

पर चलो फिलहाल सोते हैं

नमस्कार मैं एक आम आदमी की आत्मा हूँ. मैं सो रहा हूँ. कुछ भी कीजिये लेकिन मुझे ना जगाइए. बड़ी मुश्किल से लोगों ने मुझे शर्म की चादर से मीलों दूर...